जुमे के दिन पढ़ लो एक नाम और आँखों की रौशनी वापस आ जायेगी

दोस्तों अगर आपकी आँखों मई कोई भी समस्या रहती है । आपकी आँखे कमजोर तो नहीं हो गयी है? जब आप पढ़ाई करते है तो आपके सर मैं भी दर्द होता है तो आज आपके लिए ये अमल बहुत ही ज्यादा काम आने वाला है।


तो प्यारे दोस्तों इस अमल को करने का जो दिन है वो है जुम्मे का दिन। और वक़्त जो है वो जुम्मे की नमाज़ के बाद है। यानी की जो हमारे भाई इस वज़ीफ़े को मस्जिद मैं जुमे की नमाज़ के बाद ही कर सकते हैं। और हमारी बहन इस अमल को जौहर के बाद भी कर सकती हैं ।


दोस्तों अब जान लेते हैं की आपको करना क्या है तो सबसे पहले आपको तीन बार शुरू मैं दुरुदेपक पढ़ना है।

इसके बाद आपको अल्लाह का नाम या ज़ाहिर 500 मर्तबा पढ़ना है।

उसके बाद आपको तीन मर्तबा आखिर मैं दुरुदेपक पढ़े, वही दुरुदेपक पढ़े जो आपने शुरुवात मैं पढ़ी थी ।


इतना करने के बाद आपको अपने दोनों अंगूठो को मिला लेना है और उनके नाखुनो पर डैम कर लेना है यानी फूंक मार लेनी है।

इस तरह से इस अमल को हर जुम्मे के दिन करें।

दोस्तों जो साक्ष भी इस अम्ल को करेगा तो इंशाअल्लाह उस सख्श की आँखों मैं कभी भी कोई भी परेशानी नहीं आएगी। या फिर कोई भी सख्श अगर अपनी आँखों की रौशनी से परेशां है तो इंशाल्लाह उसकी आँखों की रौशनी वापस आ जाएगी।


दोस्तों उम्मीद है आप लोगों को हमारा बताया हुआ ये अमल समझ आया होगा अगर आपका कोई सवाल या सुझाव है तो निचे कमेंट कर दीजिये और इस अमल को अपने घर परिवार, और रिश्तेदारों तक भी जरूर पहुंचाए।




0 views

©2020 by GS World